Weather Alert 13 March – CG24NEWS

[ad_1]

 

13March शनिवार को तेज बारिश, ओलावृष्टि का खतरा, होने की आसंखा 

Weather Alert 13 March: देश के कई राज्यों में मौसम की बदलाव देखने को मिला। कई जगहों पर हल्की बारिश हो रही है। कई राज्यों में बादल छाए हुए हैं और यहां बारिश की संभावना जताई गई है। तमिलनाडु के कई इलाकों में लगातार तीन दिन से बारिश देखने को मिला खास करके चेन्नई और पंडुचेरी कोयंबटूर में,मौसम विभाग के मुताबिक पहाड़ी राज्यों में भी बर्फबारी और बारिश का अनुमान है। स्काइमेट वेदर रिपोर्ट के मुताबिक मैदानी इलाकों में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली-एनसीआर के अधिकांश भागों, उत्तर प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों और मध्य प्रदेश के लगभग सभी भागों में अगले 24 घंटों तक वर्षा के लिए मौसमी स्थितियां अनुकूल नजर आ रही हैं। मौसम विभाग की जानकारी के मुताबिक अगले दो घंटे के दौरान दिल्ली, हरियाणा, यूपी व राजस्थान के कई क्षत्रों में आंधी व तेज गरज के साथ बारिश हो सकती है। इस दौरान हवा की गति करीब 20-30 किमी प्रतिघंटा रहेगी। बताया जा रहा है कि दिल्ली, महेंद्रगढ़, नारनौल, रेवाड़ी, कोसली, फरुखनगर, मानेसर, गुड़गांव, झज्जर, चरखाद्री, कुरुक्षेत्र के कुछ स्थानों पर बारिश की संभावना है। वहीं हरियाणा के करनाल, पानीपत, सोनीपत, गन्नौर, फरीदाबाद, सोहना, खरखौदा, सफीदों, नारनौल , यूपी के नोएडा, शामली, देवबंद, मुज्जफरनगर, खतोली राजस्थान के बरवाड़ी में बारिश होगी। अगले 1 घंटे के दौरान इन क्षेत्रों में ओलावृष्टि की भी संभावना है। आईएमडी (IMD) के मुताबिक अगले तीन दिन यानी 13से 16 मार्च तक मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, ओडिशा, उत्तरप्रदेश और बिहार, तमिलनाडु में हल्की बारिश देखने को मिल सकती है। जबकि असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, कर्नाटक और सौराष्ट्र के कुछ इलाकों में बारिश के साथ ओलावृष्टि की आशंका है।

मौसम विभाग के अनुसार इस पूरे हफ्ते दिल्ली-एनसीआर के ऊपर बादल छाए रहेंगे। आईएमडी के अनुसार हिमाचल में 14 मार्च तक मौसम खराब रह सकता है। एक नया पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान और इससे सटे जम्मू कश्मीर के पास दिखाई दे रहा है। मौसमी सिस्टमों के अलावा एक अन्य मौसमी सिस्टम दक्षिण-पूर्वी मध्य प्रदेश के ऊपर चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र के रूप में सक्रिय हुआ है। यह तीनों सिस्टम मौसम को सक्रिय करने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। शुक्रवार की सुबह दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर भारत में बादल छाए रहे और कुछ इलाकों में हल्की बारिश भी हुई। जनकपुरी, उत्तमनगर, पंजाबी बाग, नारायण, धौला कुआँ, महरौली, साकेत, एम्स, करोल बाग, लक्ष्मी नगर, मयूर विहार समेत गुरुग्राम, फ़रीदाबाद, नोएडा और गाज़ियाबाद में भी बारिश हुई।अनुमान

मौसम विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में गुरुवार को हल्की बारिश हुई। अगले 24 घंटे में प्रदेश के पांच संभागों में बारिश होने का अनुमान है। आईएमडी के भोपाल केंद्र के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी ने बताया कि अगले 24 घंटों में प्रदेश के ग्वालियर, चंबल, जबलपुर, भोपाल, होशंगाबाद और सागर संभागों के अलग-अलग स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि दक्षिण-पूर्व मध्य प्रदेश में ऊपरी हवा के चक्रवाती दबाव और पश्चिमी राजस्थान पर ऊपरी हवा के संचलन के कारण बूंदाबांदी हुई है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में रविवार तक ऐसा मौसम बना रह सकता है। मौसम विभाग ने आगामी दो दिन में राज्य के कई हिस्सों में बारिश व ओलावृष्टि का अनुमान जताया है। मौसम विभाग के मुताबिक एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से अगले 48 घंटों तक राज्य के कोटा, भरतपुर, जयपुर, अजमेर तथा बीकानेर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं मौसम बदलेगा। इन जिलों में बिजली चमकने, अचानक तेज हवाएं चलने तथा कहीं कहीं ओलावृष्टि होने की भी संभावना है। इस मौसमी बदलाव का असर 12 मार्च को देखने को मिलेगा जबकि 13 मार्च से एक बार पुनः मौसम शुष्क रहेगा।

इसके साथ ही पंजाब, दिल्ली ,चंडीगढ़ राजस्थान, हरियाणा, बिहार, यूपी, गंगीय पश्चिम बंगाल, झारखंड, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में तेज गरज के साथ आंधी के आसार हैं। मौसम विभाग ने इन राज्यों के लिए अलर्ट जारी किया है। वहीं विदर्भ, छत्तीसगढ़, ओडिशा, केरल और जम्मू-कश्मीर में भी गरज के साथ तेज हवाओं को लेकर सावधान रहने को कहा गया है। पूर्वोत्तर भारत के सिक्किम, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु के भी कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। दिल्ली में शुक्रवार तड़के से मौसम का मिजाज बदल गया। मध्यम ठंडी हवाएं बहने के साथ आसमान में अंधेरा छा गया और कई इलाकों में हल्की बारिश हो रही है। बादल ने आकाश को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार आज दिन में दिल्ली में ओलावृष्टि के साथ तेज आंधी आने की भी संभावना है।

पहाड़ों में हुई बर्फबारी और दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार को बूंदाबांदी का असर यह हुआ कि मौसम एकबार फिर ठंडा हो गया। जम्मू-कश्मीर में बारिश और बर्फबारी ने एक बार फिर ठंड बढ़ा दी है। वहीं, हिमाचल में भी बर्फबारी के चलते पर्यटक अटल टनल नहीं जा पाए। वहीं, उत्तराखंड में कई जगह हल्की बारिश होने से मौसम ठंडा बना रहा। कश्मीर में गुलमर्ग समेत सभी ऊंची चोटियों पर शुक्रवार को भी बर्फ गिरी है। पहाड़ों पर डेढ़ फीट तक बर्फ गिरी है। निचले इलाकों में भारी बारिश हुई है। इससे नदी-नालों का जलस्तर बढ़ गया है, लेकिन बाढ़ का कोई खतरा नहीं है। कुछ सड़कों पर भूस्खलन हुआ है। जम्मू संभाग में भी बारिश हुई है। अटल टनल का दीदार करने गए पर्यटकों को मौसम की बेरुखी के कारण मायूस होकर लौटना पड़ा। मनाली सहित लाहुल की चोटियों में हल्की बर्फबारी हुई जबकि घाटी बादलों से ढकी रही। हालांकि अटल टनल के दोनों ओर हिमपात नहीं हुआ, लेकिन सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पर्यटकों को सोलंगनाला से आगे नहीं भेजा गया। पर्यटकों ने अंजनी महादेव सहित फातरु की वादियों में ही बर्फ के फाहों का आनंद उठाया।

तेजी से बदलेगा मौसम, यह है ताजा अनुमान

तेज गरज के साथ बरसात होने के आसार है। हिमालयी क्षेत्र में भी पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। जिसके कारण पहाड़ इलाकों में इसका असर देखने को मिल रहा है। मौसम एक बार फिर करवट बदल रहा है। इस महीने का दूसरा पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय दिखाई दे रहा है। पहाड़ों से लेकर मैदानी इलाकों तक दिन के तापमान में कुछ बदलाव जरूर देखने को मिलेगा लेकिन हवा में ठंडक के लिए कम से कम 14-15 मार्च तक का इंतजार करना होगा। एक अन्य सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ फिर से उत्तर भारत में दस्तक देगा जिसके कारण अगले कई दिन बारिश और बर्फबारी पर्वतीय और मैदानी इलाकों में होने की संभावना है। भारतीय मौसम विभाग ने अगले दो दिनों के लिए कई राज्यों में आंधी-तूफान का अलर्ट जारी किया है। आईएमडी ने के अनुसार उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, कश्मीर, लद्दाख में 11 और 12 मार्च को जोरदार बारिश की संभावना है। विशेष रूप से पंजाब और हरियाणा के तराई क्षेत्रों तथा उत्तर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के भागों में कुछ स्थानों पर गरज के साथ हल्की वर्षा या बूँदाबाँदी होने की संभावना है। राज्य के 6 जिलों शिमला, सोलन, सिरमौर, मंडी, कुल्लू और चंबा में येलो अलर्ट जारी हुआ। जबकि 12 मार्च को मध्य पर्वतीय जिलों के साथ मैदानी इलाकों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। Rajasthan और MadhyaPradesh पर आगामी बारिश बंगाल की खाड़ी से गर्त और नमी के गठन के साथ-साथ पश्चिमी विक्षोभ से प्रेरित चक्रवाती परिसंचरण के कारण होती है। प्री-मानसून आंधी और धूल भरी आंधी वातावरण की तीव्र गर्मी और अस्थिरता का परिणाम है जो गरज के साथ बनती है।

उत्तराखंड में मौसम ने बदली करवट, बादलों का डेरा

उत्तराखंड में पश्चिमी विक्षोभ की दस्तक के बाद मौसम के करवट बदल ली है। दिनभर बादलों के डेरे के बीच कहीं-कहीं हल्की बूंदाबांदी भी हुई। मौसम विभाग के अनुसार आज पहाड़ों में कहीं-कहीं हल्की बारिश हो सकती है। जबकि, मैदानी इलाकों में मौसम शुष्क रहेगा। प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से मौसम शुष्क बना हुआ था। चटख धूप के बीच पारा भी उछाल मार रहा था। हालांकि, गुरुवार देर रात पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी हिमालयी क्षेत्र में सक्रिय हो गया, जिसके चलते प्रदेश में बारिश और ओलावृष्टि के आसार बने हैं। दून समेत आसपास के इलाकों में ठंडी हवाओं के साथ हल्की बूंदाबांदी भी हुई, जिससे तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई।



[ad_2]

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *