सिर्फ 8 वीं पास को बाल अधिकार संरक्षण आयोग का अध्यक्ष बनाना समझ से परे: किशन साव –

कोरबा 20 जुलाई।छत्तीसगढ़ सरकार ने बहुप्रतीक्षित आयोग, निगम और मंडलों के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सदस्यों की लिस्ट जारी की है जिसमे मोहला- मानपुर की पूर्व विधायक तेज कुंवर नेताम को छत्तीसगढ़ बाल संरक्षण अधिकार आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है। जिस पर टिप्पणी करते हुए भाजपा युवा मोर्चा के उरगा मण्डल अध्यक्ष किशन साव ने कहा कि संवैधानिक दर्जा रखने वाले आयोग में राजनीतिक स्वार्थ के चलते छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार द्वारा की गई इस नियुक्ति पर प्रश्नचिन्ह लगना लाजमी है। श्री साव का कहना है कि बालकों के संरक्षण की दिशा में काम करने वाले आयोग के अध्यक्ष की शैक्षणिक योगयता स्नातक और उम्र अधिकतम 65 वर्ष होनी चाहिये, लेकिन आठवीं पास और अधिक उम्र वाले को बाल अधिकार संरक्षण आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है जो सर्वथा अनुचित है।बच्चों के कानूनी अधिकार से संबंधित आयोग में जानकार व्यक्ति पहुंचे ऐसी मंशा से बाल अधिकार संरक्षण आयोग का गठन किया गया है।किंतु निहित स्वार्थवश केवल रेवड़ी बांटने की नीयत से भूपेश सरकार नियमों को ताक पर रखकर नियुक्तियां करने में लगी हैं जो प्रदेश के लिये गम्भीर शर्म का विषय है। तत्काल यह नियुक्ति रद्द कर भूपेश बघेल जी को माफी मांगनी चाहिए। श्री साव का कहना है कि इस गंभीर विषय को वे भाजपा के शीर्ष नेतृत्व से मिलकर आगे की रणनीति तैयार करेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *