निर्धारित दर पर वेतन की मांग, ठेका कर्मियों ने किया काम बंद

कोरबा 19 जुलाई। सरईपाली ओपनकास्ट खदान में कार्यरत ठेका कर्मियों निर्धारित दर पर वेतन देनेए कार्य की अवधि आठ घंटा करने अन्य मुद्दों को लेकर काम बंद कर प्रदर्शन दिया। इस पर ठेका कंपनी ने आश्वस्त किया कि उनकी जायज मांग चरणबद्ध ढंग से पूरी की जाएगी। इसके बाद कर्मी काम पर वापस लौटे।

साउथ इस्टर्न कोलफिल्ड्स लिमिटेड एसईसीएल की सरइपाली ओपनकास्ट खदान में नियोजित ठेका कंपनी ने अपनी 14 सूत्रीय मांग को काम बंद विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने आठ के बजाए 12 घंटे काम कराने, कम वेतनमान देने, पेमेंट स्लीप नहीं देने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि कंपनी समझौता का उल्लंघन कर कर्मियों से काम ले रही है। स्थानीय के बजाए बाहरी लोगों को काम पर रखा जा रहा है। चालक, आपरेटर व हेल्फर को निर्धारित समय पर वेतन नहीं दिया जा रहा। साप्ताहिक अवकाश की भी स्थिति स्पष्ट नहीं है। कर्मियों ने कहा कि जिन क्षेत्रीय वाहन चालकों को निष्कासित किया गया है, उन्हें काम पर वापस रखा जाना चाहिए और बायोमेट्रिक हाजिरी प्रणाली लागू करना चाहिए। साथ ही राष्ट्रीय पर्व के दौरान काम कराए जाने पर नियमानुसार राशि भुगतान किया जाना चाहिए। मजदूरों के आंदोलन करने से खदान का कामकाज प्रभावित होने लगा। इस पर ठेका कंपनी के अफसरों ने प्रतिनिधि मंडल से चर्चा कर आश्वस्त किया कि उनकी जायज मांग को अवश्य चरणबद्ध ढंग से पूरा किया जाएगा। इसके लिए कुछ वक्त देना होगा, ताकि कंपनी के वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर निर्णय लिया जाएगा। इसलिए काम बंद ना किया जाए। इस पर आंदोलनकारियों ने कहा कि उनकी मांग पूरी न होने पर काम बंद आंदोलन किया जाएगा और जब तक मांग पूरी नहीं होगी आंदोलन जारी रहेगा। इस दौरान खदान में किसी तरह काम नहीं होगा। बताया जा रहा है कि सरइपाली खदान में ग्रामीणों के विरोध की वजह बार-बार काम प्रभावित होने से ठेका कंपनी को नुकसान झेलना पड़ रहा है। यही वजह है कि ठेका कंपनी ने मजदूरों की मांग पूरा करने का आश्वासन देकर काम शुरू कराया, ताकि मिट्टी व कोयला उत्खनन कार्य में किसी तरह की बाधा उत्पन्न न हो।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *