घोटालों के आरोपी देवेन्द्र पाण्डेय की मंच में मौजूदगी से धूमिल हो रही भाजपा की छवि

कोरबा 19 जुलाई। कथित भाजपा नेता देवेन्द्र पाण्डेय की भारतीय जनता पार्टी के मंच में मौजूदगी से पार्टी की छवि धूमिल हो रही है। इस बात को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं में खासा असंतोष है, लेकिन वे बड़े नेताओं को अपनी भावनाओं से अवगत कराने में हिचक रहे हैं।

जानकारी के अनुसार यूं तो पिछले आठ वर्षों से घपले-घोटालों के लिए बहुचर्चित देवेन्द्र पाण्डेय की भाजपा के मंच में प्रथम पंक्ति में बैठने को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं में असंतोष व्याप्त है। लेकिन आये दिन पार्टी के कद्दावर नेताओं से अपने अंतरंग रिश्तों के किस्से-कहानी सुनाकर देवेन्द्र पाण्डेय इस असंतोष को नहीं उभरने दे रहे थे। मजे की बात यह है, कि पार्टी के वरिष्ठ नेता भी देवेन्द्र पाण्डेय को बराबर तरजीह देते रहे, जिससे कार्यकर्ताओं में देवेन्द्र पाण्डेय की ऊंची पहुंच का खौफ बना रहा है।

ताजा मामला 16 जुलाई का है। भाजपा के किसान मोर्चा ने दुर्गा पण्डाल पुराना बस स्टैण्ड में एक दिवसीय धरना दिया था। इस दिन भी देवेन्द्र पाण्डेय मंच पर प्रथम पंक्ति में बैठाये गये थे। देवेन्द्र पाण्डेय की उपस्थिति से पार्टी के निष्ठावान कार्यकर्ताओं का दर्द एक बार फिर छलक उठा। कई कार्यकर्ता आपस में चर्चा करते रहे कि देवेन्द्र पाण्डेय जैसे घोटाले के आरोपियों को मंच पर पहली पंक्ति में बैठाकर पार्टी के नेता आम जनता को क्या संदेश देना चाहते हैं।

पार्टी कार्यकर्ताओं में चर्चा थी, कि यदि दागदार चेहरों को इसी तरह महत्व दिया जाता रहा , तो कोरबा जिले में भाजपा की राजनीतिक नाव में डूबने से कोई नहीं बचा सकता। ऐसे कार्यकर्ताओं का मानना है, कि पार्टी की साख ऐसे लोगों को महत्व देने के कारण लगातार कमजोर हो रही है और यही हाल रहा तो कोरबा जिले के चुनावों में भाजपा को बार-बार हार का मुंह देखना पड़ेगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *