अब छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में होगा DMF राशि का उपयोग –

रायपुर 18 जुलाई। प्रदेश सरकार ने राज्य के सभी 28 जिलों को खनिज प्रभावित क्षेत्र घोषित कर दिया है। इससे अब खनिपट्टा से प्राप्त होने वाले न्यास निधि (डीएमएफ) का उपयोग अब पूरे जिले के विकास कार्यों में किया जा सकेगा। राज्य के खनिज विभाग ने इस संबंध में शुक्रवार को आदेश जारी कर दिया है। इसके साथ ही विभाग ने प्रभावित जिलों को राजस्व में मिलने वाला हिस्सा भी तय कर दिया है।

अफसरों के अनुसार सरगुजा, बलरामपुर-रामानुजगंज, सूरजपुर व गरियाबंद जिलों के खदान समूहों से अन्य जिले प्रभावित क्षेत्र में समाहित नहीं है, जिसके कारण इन जिलों के भीतर मुख्य खनिजों के खदान समूह के अतिरिक्त अन्य खनिजों की खदान व खदान के समूह की खनन और खनन से संबंधित संक्रियाओं से प्रभावित क्षेत्र संबंधित जिले हैं, जिसके संबंध में प्रभावित क्षेत्र घोषित करने के प्राधिकार संबंधित जिले के कलेक्टर को है।

खनिज विभाग ने दंतेवाड़ा, बस्तर, बीजापुर, सुकमा, नारायणपुर, कोंडागांव व कांकेर जिला को दंतेवाड़ा के लौह अयस्क खदानों के लिए प्रभावित क्षेत्र घोषित किया है। इन खदानों से प्राप्त निधि की राशि में से दंतेवाड़ा में 30, बस्तर में 20, बीजापुर में 17, सुकमा में 15, नारायणपुर व कोंडागांव में सात-सात और कांकेर में चार फीसद खर्च किया जाएगा। बालोद के लौह अयस्क खदान समूह के खनिपट्टे के लिए बालोद, राजनांदगांव, दुर्ग, धमतरी के समस्त क्षेत्र को प्रभावित क्षेत्र घोषित किया गया है। वहां से प्राप्त राजस्व में से बालोद जिले में 50, राजनांदगांव में 20, दुर्ग 20 और धमतरी में 10 फीसद हिस्सा निर्धारित किया गया है।

कोरबा के कोयला खदान समूह के खनिपट्टे के लिए कोरबा, जांजगीर-चांपा, बिलासपुर, जशपुर, मुंगेली, बेमेतरा, कबीरधाम, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के पूरे क्षेत्र को प्रभावित क्षेत्र घोषित करते हुए खदान समूह से प्राप्त न्यास निधि का वितरण कोरबा जिले में 50, जांजगीर-चांपा में 20, बिलासपुर में 13, जशपुर में पांच, मुंगेली में चार, कबीरधाम व बेमेतरा में तीन-तीन, मरवाही में दो फीसद निर्धारित किया गया है। इसी तरह कोरिया के कोयले के खनिपट्टे के लिए कोरिया, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के समस्त क्षेत्र प्रभावित क्षेत्र घोषित करते हुए कोरिया जिले को 90 और मरवाही जिले को 10 फीसद न्यास निधि का वितरण निर्धारित किया गया है

जशपुर व रायगढ़ में भी खर्च होगा रायगढ़ के खदानों का पैसा

रायगढ़ के कोयला खदान समूह के खनिपट्टे के लिए रायगढ़, जशपुर, महासमुंद जिले के समस्त क्षेत्र को प्रभावित क्षेत्र घोषित करते हुए खनिपट्टा क्षेत्र से प्राप्त न्यास निधि का वितरण रायगढ़ जिले में 70, जशपुर जिले में 15, महासमुंद जिले में 15 प्रतिशत निर्धारित किया गया है। वहीं, बलौदाबाजार के चूनापत्थर के खनिपट्टे के लिए बलौदाबाजार, रायपुर को प्रभावित क्षेत्र घोषित करते हुए खनिपट्टा क्षेत्र से प्राप्त न्यास निधि का बलौदाबाजार जिले में 80 और रायपुर जिले में 20 फीसद वितरण निर्धारित किया गया है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *